15 अक्तूबर को शारदीय नवरात्रि शुरू होने जा रहा है और इस दिन सुबह 11 बजकर 44 मिनट से लेकर दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक कलश स्थापना का सबसे अच्छा मुहूर्त है। 

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त: 15 अक्टूबर 2023 को सुबह 11:44 बजे से दोपहर 12:30 तक

घट स्थापना का निश्चित मुहूर्त: 15 अक्टूबर 2023 को सुबह 11:44 बजे से दोपहर 12:30 तक

नवरात्रि का पर्व शक्ति और भक्ति का प्रतीक है। इस दौरान मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। 

नवरात्रि की शुरुआत रविवार 15 अक्टूबर 2023 से होगी। 23 अक्टूबर 2023 को नवरात्रि समाप्त होगी। 

कलश में गंगाजल, अक्षत, फूल, फल, मिठाई, पान, सुपारी आदि रखकर पूजा की जाती है। इसके बाद मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। पूजा के दौरान आरती, मंत्र, भजन आदि लगायें जाते हैं। 

नवरात्रि के दौरान भक्त व्रत रखते हैं। व्रत के दौरान मांस, मदिरा आदि का सेवन नहीं किया जाता है। 

नवरात्रि के आखिरी दिन भक्त कन्या पूजन भी करते हैं। कन्या पूजन में नौ कन्याओं को घर बुलाकर उन्हें भोजन कराया जाता है और उन्हें उपहार दिए जाते हैं। 

नवरात्रि की शुभकामनाएं